Bihar Board Grace Marks policy

Table of Contents

बिहार बोर्ड ग्रेस अंक पॉलिसी

बिहार बोर्ड का मैट्रिक इंटर 2023 का रिजल्ट मार्च महीने में जारी होने जा रहा है। रिजल्ट जारी होने से पहले मैट्रिक इंटर में मिलने वाले ग्रेस अंक के बारे में जान लें। ताकि बोर्ड रिजल्ट आने से पहले आपको पता चल जाए कि:-

  • मैट्रिक मे Grace Marks देने के क्या नियम हैं?
  • इंटर में Grace Marks देने के क्या नियम हैं?
  • बिहार बोर्ड Grace Marks कब देता है?
  • Grace Marks कितना दिया जाता है?
  • ग्रेस मार्क्स देने के क्या नियम हैं?
  • किस-किस को Grace Marks मिल सकता है?

सभी सवालों का जवाब जानने के लिए पोस्ट को पूरा पढ़ें। 

मैट्रिक मे Grace Marks देने के क्या नियम हैं?

मैट्रिक ग्रेस अंक पॉलिसी बिहार बोर्ड

मैट्रिक में पास होने के लिए हर छात्र को, हर विषय में न्यूनतम 30% अंक प्राप्त करना होता है। अर्थात पास होने के लिए, हर विषय में 100 में से कम से कम 30 अंक प्राप्त करना अनिवार्य होता है। 

अगर कोई छात्र 100 में 30 नंबर लाने मे असफल होता है। तब ऐसे छात्र को बिहार बोर्ड ग्रेस मार्क्स दे कर पास कर देता है। ज्यादा से ज्यादा छात्रों को पास करने के लिए Bihar School Examination Board ने ये नीति अपना रखी है। 

इस का सीधा असर रिजल्ट पर पड़ता है। और इस Grace Marks Policy के कारण पास होने वाले छात्रों का प्रतिशत बढ़ जाता है। 

मैट्रिक में क्या हैं Grace Marks देने के नियम?

एक विषय में फेल होने पर:-

बिहार बोर्ड के नियमों के अनुसार, अगर कोई छात्र किसी एक विषय में 10% या उससे कम नंबर से फेल हो जाता है, तो उसे ग्रेस अंक दे कर पास कर दिया जाता है। 

दो विषय में फेल होने पर:-

उसी प्रकार अगर कोई छात्र मैट्रिक में 2 विषयों में 5-5% या उससे कम नंबरों से फेल हो जाता है। तो उसे भी Grace Marks दे कर पास कर दिया जाता है। 

तीन विषय में फेल होने पर:-

अगर कोई छात्र मैट्रिक में किसी 3 विषय में फेल हो जाता है। तो उसे ग्रेस मार्क्स नहीं दिया जाता। ऐसे छात्र Compartmental exam में भी नहीं बैठ सकते। 3 विषयों में फेल होने वाले छात्रों के सामने सिर्फ एक विकल्प होता है। ऐसे छात्रों को अगले साल की परीक्षा में शामिल होना होगा। 

Board Exam copy checking

इंटर मे Grace Marks देने के क्या हैं नियम?

इंटर ग्रेस अंक पॉलिसी बिहार बोर्ड

इंटर में पास होने के लिए हर छात्र को, हर विषय में न्यूनतम 33% अंक प्राप्त करना होता है। अर्थात पास होने के लिए, हर विषय में 100 में से कम से कम 33 अंक प्राप्त करना अनिवार्य होता है। 

अगर कोई छात्र 100 में 33 नंबर लाने मे असफल होता है। तब ऐसे छात्र को बिहार बोर्ड ग्रेस मार्क्स दे कर पास कर देता है। इंटर में भी ज्यादा से ज्यादा छात्रों को पास करने के लिए Bihar School Examination Board ने ये नीति अपना रखी है। 

इस का सीधा असर रिजल्ट पर पड़ता है। और इस Grace Marks Policy के कारण इंटर में पास होने वाले छात्रों का प्रतिशत बढ़ जाता है। 

इंटर में क्या हैं Grace Marks देने के नियम?

एक विषय में फेल होने पर:-

बिहार बोर्ड के नियमों के अनुसार, अगर कोई छात्र किसी एक विषय में 10% या उससे कम नंबर से फेल हो जाता है, तो उसे ग्रेस अंक दे कर पास कर दिया जाता है। 

दो विषय में फेल होने पर:-

उसी प्रकार अगर कोई छात्र इंटर में 2 विषयों में 5-5% या उससे कम नंबरों से फेल हो जाता है। तो उसे भी Grace Marks दे कर पास कर दिया जाता है। 

तीन विषय में फेल होने पर:-

अगर कोई छात्र इंटर में किसी 3 विषय में फेल हो जाता है। तो उसे ग्रेस मार्क्स नहीं दिया जाता। ऐसे छात्र Compartmental exam में भी नहीं बैठ सकते। 3 विषयों में फेल होने वाले छात्रों के सामने सिर्फ एक विकल्प होता है। ऐसे छात्रों को अगले साल की परीक्षा में शामिल होना होगा। 

बिहार के छात्र

भाषा विषयों में फेल होने पर नहीं मिलेगा ग्रेस अंक

Bihar Board Grace Marks Policy

मैट्रिक इंटर में ग्रेस मार्क्स कब और कितना मिलता है, ये तो आपने समझ लिया होगा। लेकिन याद रखें कि अगर कोई छात्र किसी भाषा विषय (Language Subject) में फेल हो जाता है। तो ऐसे छात्र को कोई Grace Marks नहीं मिलेगा। 

अर्थात अगर आप हिंदी, उर्दू, English, संस्कृत आदि विषयों में फेल हो जाते हैं। तो आपको कोई ग्रेस अंक नहीं मिलेगा। 

ऐसे छात्रों को या तो कम्पार्टमेंटल परीक्षा में शामिल होना होगा। या फिर अगले साल परीक्षा देनी होगी।  

2022 में बदल दिया गया Grace Marks देने के नियम?

2022 से पहले बिहार बोर्ड अधिकतम 8% ही ग्रेस मार्क्स देता था। लेकिन इस नियम को 2022 के मैट्रिक इंटर रिजल्ट से पहले बदल दिया गया। अर्थात अधिकतम 8% को बढ़ा कर ग्रेस मार्क्स 10% कर दिया गया है। 

ग्रेस मार्क्स के नियम बदलने का असर 2022 के मैट्रिक इंटर रिजल्ट पर स्पष्ट दिखा था। अर्थात मैट्रिक इंटर में पास होने वाले छात्रों की संख्या बढ़ गई थी। 

2023 में लागू होगा ये नियम 

2023 के मैट्रिक इंटर रिजल्ट में भी ग्रेस मार्क्स देने का यही नियम लागू होगा। अर्थात Bihar School Examination Board के छात्रों को अधिकतम 10% ग्रेस अंक दिए जाएंगे। 

इस आधार पर कहा जा सकता है कि 2023 का मैट्रिक इंटर रिजल्ट पिछले साल की तुलना में और बेहतर आने की उम्मीद है। 

आप सभी को बेहतर रिजल्ट की शुभकामनाएँ 

पोस्ट अच्छा लगा हो तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें। 

Important Links


2 Comments

Upendra · March 21, 2023 at 7:37 pm

Sir mera Physics me 20 or Biology me 16 or tatal 275 marks hai or additional me (Math – 17) hai to kya mai scotny me form bhar sakte hai,, or Biology ke copy janch bhi karwana , , please help me , Ho sake to complete video bana digiye sir 🙏🙏🙏

    Divyanshu Raj · May 23, 2023 at 1:09 pm

    Sir main Divyanshu Raj Bihar board se 2023 me Intermediate scince se 292 marks ke sath pass kiya scrutiny ke bad 4 no. Badhakar 296 kiya gaya kya mujhe 4 no. Ka gress marks mil sakta hai ?

Leave a Reply

Avatar placeholder

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!